देश के नए महामहिम बनने वाले कोविंद के जीवन पर डालें एक नजर

0

नई दिल्ली। एनडीए की तरफ से राष्‍ट्रपति पद के उम्‍मीदवार का ऐलान हो गया है। बीजेपी चीफ अमित शाह ने बिहार के गवर्नर रामनाथ कोविंद के नाम को सबके सामने रखा। इस नाम से राजनीति में गर्माहट आ गई है।

बिहार के गवर्नर रामनाथ कोविंद

बिहार के गवर्नर रामनाथ कोविंद के जीवन पर एक नजर

बिहार के गवर्नर रामनाथ कोविंद दलित समाज से आते हैं।

रामनाथ कोविंद कानपुर के रहने वाले हैं।

सुप्रीम कोर्ट और दिल्ली हाईकोर्ट में 16 साल तक वकालत कर चुके हैं।

बिहार के गवर्नर रामनाथ कोविंद भारतीय जनता पार्टी के जाने-माने नेता हैं।

राम नाथ कोविंद यूपी से दो बार साल 1994-2000 और साल 2000-2006 के दौरान राज्यसभा सांसद रह चुके हैं।

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी रह चुके हैं।

इसके अलावा कोविंद 1998 से 2002 तक बीजेपी के दलित मोर्चा के प्रेसिडेंट भी रह चुके हैं।

रामनाथ कोविंद का नाम अब तक कभी भी किसी विवाद में सामने नहीं आया है। उनकी छवि काफी साफ-सुथरी है।

इसके मायने क्या हैं-

2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों में बीजेपी को इसका फायदा मिल सकता है। ये किसी मास्टर स्ट्रोक से कम नहीं है। विपक्ष की एकता को बिखेरने की कोशिश है।

सर्वसम्‍मति से लिया गया निर्णय

राम नाथ कोविंद के नाम तय होने से पहले कई दूसरे बड़े चेहरे चर्चा में रहे, लेकिन आखिर-आखिर में राम नाथ कोविंद के नाम पर मुहर लगी। इस मीटिंग में पीएम मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और बीजेपी के दूसरे बड़े नेता और मंत्री मौजूद थे।

loading...
शेयर करें

आपकी राय