अब नहीं होना पड़ेगा शर्मिंदा, इन आसान तरीकों से दूर हो जाएगी आपके बालों से रूसी

0

नई दिल्ली| बालों में रूसी होना एक आम समस्या है। आवश्यक जैविक (आर्गेनिक) तेलों के इस्तेमाल से न सिर्फ रूसी की समस्या दूर हो सकती है, बल्कि आपके बाल भी स्वस्थ रहेंगे। नींबू का तेल, तुलसी का तेल और चाय के पौधे का तेल आपके सिर और बालों से जुड़ी सारी समस्याओं को दूर कर सकते हैं। ‘आर्गेनिक हार्वेस्ट’ कंपनी की रिसर्च एवं डिवेलपमेंट मैनेजर गरिमा सिंह ने बेहतर परिणाम पाने के लिए कुछ आवश्यक तेलों के इस्तेमाल से होने वाले फायदों के बारे में ये बातें बताई है :

बालों में रूसी

बालों में रूसी से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये टिप्स

– नींबू के गुणों से समृद्ध नींबू का तेल तैलीय स्कैल्प के लोगों के लिए उम्दा टॉनिक है। एंटीसेप्टिक व एंटी-माइक्रोबियल होने के कारण रूसी और अन्य इन्फेक्शंस दूर करने के साथ ही यह बालों को लंबे समय तक खुशबूदार बनाए रखता है।

इस तेल को लगाने के बाद इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि बाल धोकर ही धूप में निकलें, क्योंकि सिट्रस (खट्टा फल) धूप में प्रतिक्रिया करने के लिए जाने जाते हैं, ऐसे में आपके बालों को नुकसान पहुंच सकता है।

– चाय के पेड़ का तेल एंटी फंगल और जीवाणुरोधी होता है, जिससे यह स्कैल्प पर इंफेक्शन फैलना, यीस्ट बनना रोकता है। यह खोपड़ी में अच्छी तरह से अवशोषित हो जाता है, इसलिए इसे रूसी हटाने के लिए रात भर सिर में लगा छोड़ दें, अन्य तेलों की अपेक्षा यह हल्का भी होता है। हालांकि, संवेदनशील स्कैल्प में खुजली व जलन से बचने के लिए इस तेल में जोजोबा या जैतून का तेल मिलाकर लगाएं।

– सफेद फ्लैक्स को दूर करने के लिए तुलसी का तेल बेहतरीन औषधि है। रूसी दूर करने के अलावा यह बालों को कंडीशन कर मुलायम बनाने के साथ ही रक्त संचार सही कर बालों को स्वस्थ रखता है और बालों को घना व लंबा करता है। इसे कम से कम एक घंटे लगाएं। तुलसी के तेल में लैवेंडर या रोजमैरी का तेल मिलाकर भी लगाया जा सकता है, इससे बालों में चमक भी आएगी।

– क्लेरी सेज एक बूटी होती है। इसका तेल हर प्रकार के बालों के अनुकूल है। यह रूखे, तैलीय व घुंघराले सभी के लिए बहुत प्रभावी है। यह स्कैल्प में सेबम को नियंत्रित कर रूसी को दूर करने में सहायक है।

इस तेल का इस्तेमाल करने से पहले बच्चों या गर्भवती महिलाओं को चिकित्सक से परामर्श जरूर कर लेना चाहिए। नारियल तेल रूसी हटाने में बेहद प्रभावी माना जाता है, इसमें तीन छोटा चम्मच क्लेरी सेज तेल व इतनी मात्रा में ही मैंडरिन तेल और पांच बूंद नींबू का तेल मिलाकर लगाएं।

loading...
शेयर करें

आपकी राय