फादर्स डे : पिता के प्‍यार ने जिंदगी से लड़ना सिखाया

0

नई दिल्ली। अक्सर हम लोग मां के लिए अपने जज्बात या कुछ न कुछ कागज़ पर उकेरते हैं। ऐसा बहुत कम ही होता है कि पिता के लिए कुछ लिखा गया हो। मां के लिए लिखा लेख तो बहुत मिल जायेगा लेकिन पिता के लिए बहुत कम ही लिखा होता है, तो आज एक मौका हम सब को मिल रहा है अपनी संवेदनाओं को व्यक्त करने का।

फादर्स डे

फादर्स डे को ऐसे बनाएं यादगार

पूरा देश आज फादर्स डे मना रहा है। ये दिन हर किसी के लिए बहुत इम्पोर्टेन्ट होता है। पिता हमारे लिए बहुत कुछ करते हैं। हमारी सारी जरूरतों को पूरा करते है। कई बार ऐसा होता है कि ज्यादातर लोग पिता के प्यार को फर्ज समझकर भूल जाते हैं। वक़्त बदल जाता है बच्चे बड़े हो जाते हैं लेकिन पिता के लिए बच्चे हमेशा छोटे ही रहते हैं। वही पिता जिन्होंने हमारी उंगली पकड़ कर हमे चलना सिखाया। हमे उस वक़्त संभाला जब हम साइकिल चलाते हुए गिरने वाले थे। तो आज हम चाहे जितने बड़े क्यों न हो गए हों लेकिन कुछ चीजें हैं जिनके लिए आज पिता को थैंक्यू बोले-

  • जब हम छोटे थे उस समय किसी भी जरुरत पर हमेशा मेरे साथ खड़े रहने के लिए, मुझे सपोर्ट करने के लिए आप वहां हमेशा रहते थे।
  • हर बार आपने मुझे गिरने से बचाया मुझे ये एहसास दिलाया कि मैं अकेला नहीं हूं।
  • बड़ों से बात करने की तमीज से ले‍कर बॉस से बात करने तक आपने ही मुझे सब सि‍खाया।
  • मुझे यह सीख दी कि जिंदगी आसान सफर नहीं है। और हर उतार-चढ़ाव को मुझे कैसे पार करना है।
  • आप स्ट्रिक्ट रहते थे तो मुझे गुस्सा आता था लेकिन अब मुझे इसकी वजह समझ आ गई है। आप मुझे दुनिया की बुराइयों से बचाना चाहते थे।
  • आपने मुझ पर बहुत प्यार न्यौछावर किया है। मैने जिस चीज के लिए जिद्द की, वो दिलाया। जितने पैसे मांगे वो बिना किसी सवाल के दे दिए। जहां बोला वहा घुमाने ले गए। मेरी हर जिद्द को पूरा किया।

loading...
शेयर करें

आपकी राय