अपना दर्द बयां करने वाले जवान को लेकर हुआ चौंकाने वाला खुलासा

1

नई दिल्लीदेश की रक्षा करने वाले जवान दिन रात सीमा पर तैनात रहते हैं। जिसकी वजह से हम अपने घरों में चैन की नींद सोते हैं। इस बीच बीएसएफ के जवान तेज बहादुर यादव ने फेसबुक पर जवानों का दर्द बयां किया है। जवान ने एक वीडियो शेयर की जिसे अब तक 70 लाख लोगों ने देखा और करीब 4 लाख लोगों ने इस वीडियो को शेयर किया इस वीडियो में जवान से अपने सीनियर अधिकारियों पर बड़े घोटाले का आरोप लगाया है। सूत्रों के मुताबिक इस इस जवान को अब तक चार बाद कड़ी सजा मिल चुकी है।  

तेज बहादुर यादव

तेज बहादुर यादव ने सीनियर अधिकारियों पर लगाया आरोप

वीडियो में तेज बहादुर यादव ने अपने सीनियर अधिकारियों पर बड़े घोटाले का आरोप लगाया है। अपने कैंप के खाने पीने में हो रहे कथित घोटाले के लिए तेज बहादुर केवल अपने अधिकारियों पर आरोप लगा रहा है, सरकार या सेना प्रशासन पर नहीं। रोटी के एक टुकड़े और दाल के नाम पर हल्दी पानी का ये मसला उस समय और गंभीर हो जाता है जब आपको पता चलेगा कि तेज बहादुर को कहां और किस हालत में अपनी ड्यूटी निभानी पड़ती है।

 

वीडियो में जवान से देशवासियों से किया अनुरोध

वीडियो में तेज बहादूर कहते हैं, “देशवासियों मैं आपसे एक अनुरोध करना चाहता हूं। हम लोग सुबह 6 बजे से शाम 5 बजे तक, लगातार 11 घंटे इस बर्फ में खड़े होकर ड्यूटी करते हैं। कितना भी बर्फ हो, बारिश हो, तूफान हो, इन्‍हीं हालातों में हम ड्यूटी कर रहे हैं।” सोशल मीडिया पर अपने संदेश को डालते हुए तेज बहादुर ने अपील की है कि उसके दर्द को देश समझे।

 

तेज बहादुर को 20 साल में 4 बार कड़ी सजा

सूत्रों के मुताबिक बीएसएफ के जवान तेज बहादुर का करियर विवादों में रहा है, 20 साल की सेवा में 4 बार कड़ी सजा मिल चुकी है, उस पर अपने कमांडेंट पर बंदूक ताने तक का संगीन आरोप लग चुका है। बीएसएफ की ओर से प्रेस विज्ञप्ति जारी की गई है। इसमें संबताया गया है कि शुरूआती दिनों में तेज बहादुर को नियमित काउंसलिंग की जरूरत पड़ी थी। वह बिना बताए ड्यूटी पर अनुपस्थित भी रहता था। उसे शराब पीने की भी बुरी लत थी। 

हरकत में आई सरकार

तेज बहादुर यादव के वीडियो के बाद सरकार भी हरकत में है और मामले की जांच शुरू हो गई है। गृहमंत्री ने गृह सचिव को बीएसएफ से रिपोर्ट तलब कर जरुरी कार्रवाई का आदेश दिया है वहीं बीएसएफ ने भी जवान की शिकायत पर डीआईजी स्तर के एक अधिकारी को जम्मू-कश्मीर में एलओसी की उस पोस्ट पर भेजा है जहां जवान तैनात है।

बीएसएफ का आया ये बयान

बीएसएफ ने बयान जारी कर कहा है, “बीएसएफ अपने जवानों की जरूरतों को पूरा करने के लिए तत्पर रहता है। अगर किसी एक शख्स को कोई परेशानी हुई है तो इसकी जांच होगी। इस मामले की जांच के लिए एक उच्च अधिकारी मौके पर पहुंच चुका है।”

 

Edited By- Mohammad Shoaib Khan

 

loading...
शेयर करें

आपकी राय