इसरो को मिली एक और कामयाबी, सैटलाइट रिसोर्ससैट-2ए सफलतापूर्वक लॉन्च

0

श्रीहरिकोटा। इसरो ने बुधवार को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से रिमोट सेंसिंग सैटलाइट रिसोर्ससैट-2ए को लॉन्च किया। इसे सुबह 10.24 बजे पीएसएलवी-सी36 की मदद से लॉन्च किया गया। यह रिसोर्ससैट-1 और 2 की कड़ी का सैटलाइट है। 1235 किलो का यह सैटलाइट भारत के जमीनी संसाधनों के बारे में जानकारी देगा। इससे भारत की वन संपदा और जल संसाधनों के बारे में जानकारी मिलेगी।

इसरो

इसरो ने लांच किया रिमोट सेंसिंग सैटलाइट रिसोर्ससैट-2ए 

रिमोट सेंसिंग सैटलाइट रिसोर्ससैट-2ए अगले 5 साल तक के लिए सेवाएं देगा। इसे पृथ्वी की कक्षा से 817 किलोमीटर ऊपर स्थापित किया जाएगा। अंतरिक्ष कार्यक्रम में भारत की यह बड़ी सफलता है। 2003 में रिसोर्ससेट-1 और 2011 में रिसोर्ससेट-2 को लॉन्च किया गया था।  1963 में केरल स्थित थुम्बा इक्वेटोरियल रॉकेट लॉन्चिंग से पहला साउंडिंग रॉकेट छोड़ा गया था। इसके बाद से इसरो अबतक अंतरिक्ष कार्यक्रम में सफलता के झंडे गाड़ चुका है। 2014 में भारतीय मंगलयान का पहले ही कोशिश में मंगल की कक्षा में पहुंच जाना इसरो की सबसे बड़ी उपलब्धि रही है।

जीएसएलवी मार्क 2 का सफल प्रक्षेपण भारत के लिए बहुत बड़ी कामयाबी मानी जाती है। इसमें भारत ने स्वदेशी क्रायोजेनिक इंजन लगाया था। इस उपलब्धि ने भारत को उम्मीद दी है कि भारत को अब अपनी सैटलाइट लॉन्च करने के लिए दूसरे देशों पर निर्भर नहीं रहना होगा।

loading...
शेयर करें

आपकी राय